पेनान्गलन वैम्पायर से भी ज्यादा डरावनी पिशाच (Penanggalan Most Scary Vampire Demon)


पिशाच (Vampire) और राक्षस की कहानिया तो हम सभी को पसंद आती है। हम इन्हे कई फिल्मों और डरावने सीरियल में देखते है। पिशाच इंसानो का खून चूसते है। हर धर्म में पिशाचो का वर्णन मिलता है, बस उनके नाम अलग-अलग हो सकते है।

पेनान्गलन (Penanggalan) मलेशिया में पाई जाने वाली महिला वैंपायर (Vampire) को कहते हैं। उसका सर धड़ से अलग है, और उसके अंदरूनी अंग हवा में घूमते रहते हैं। लोगों का कहना यह भी है, कि सुबह वह एक सुंदर महिला के समान दिखाई देती है, परंतु रात में उसका हुलिया भयंकर हो जाता है। वह उलझे बालों में और लाल आंखें लिए इधर-उधर घूमती है। वह रात में गांव के लोगों का खून चूसती है। और खासकर नन्हें बच्चों का खून।

वह लोगों का खून अपने शरीर को तरोताजा रखने के लिए चूसती है। ऐसा कहा जाता है, कि शाम को वह घर लौट कर अपने अंगों को विनेगर में डूबा कर रख देती है, ताकि वह सिकुड़ जाए और सुबह होते ही वह उसके शरीर में आसानी से समा जाए और वह एक इंसान होने का ढोंग कर सकें। अगर पेनान्गलन (Penanggalan) ने किसी महिला का वेश धारण कर रखा है, तो उसे आसानी से पहचान आ जा सकता है, क्योंकि उसके पास से विनेगर की तेज बदबू आती है। दूसरा तरीका पेनान्गलन (Penanggalan) को पहचान ने का यह है, कि वह नवजात शिशु के जन्म के दौरान किसी से भी आंखें नहीं मिलाती और लगातार अपने होठों को चूसती रहती है।

Penanggalan Most Scary Vampire Demon



पेनान्गलन (Penanggalan) से बचने के लिए लोग अपनी खिड़कियों पर कांटे वाले पौधे लगाकर रखते हैं। जिससे उसकी आंतड़िया उन कांटो में उलझ जाएगी और उसे इस तरह मौत के घाट उतारा जा सकता है। साथ ही उसे धारीदार वस्तुओं से बहुत डर लगता है, इसलिए गर्भवती महिलाएं रात को सोते समय अपने तकिए के नीचे चाकू या कैची रख कर सोती है। मलेशियाइ लोक साहित्य के अनुसार पेनान्गलन (Penanggalan) एक महिला थी, जो अपनी सुंदरता काले जादू द्वारा लाती थी। उसने कुछ बुरी आत्माओं के साथ सौदा किया था और किसी कारणवश उसने वह संधि तोड़ दी थी और उसे उन बुरी आत्माओं का श्राप लग गया। उसे कटे हुए सर के साथ लोगों का खून पीने का श्राप मिला।

हालांकि कुछ लोगों का कहना ऐसा है, कि पेनान्गलन (Penanggalan) एक बदसूरत महिला थी। सभी पुरुष उससे दूर भागते थे, जिसके चलते उसे सभी विवाहित स्त्रियों से जलन होने होने लगी और वह उनसे नफरत करने लगी। जलन के कारण उसने कई गर्भवती महिलाओं की हत्या कर दी थी। गांव के लोगों को जब उस महिला के बारे में पता चला तो उन्होंने उसके खिलाफ सख्त कदम उठाने का निर्णय लिया। उन्होंने पेनान्गलन (Penanggalan) को एक पेड़ पर से गर्दन के बल लटका दिया और उसके पैरों को सांड से बांध दिया। जब उन्होंने सांड को छोड़ा तब उसका सर वही पेड़ पर लटका रह गया और उसके अंदरूनी अंग भी पेड़ से  लटके रह गए।

यह दृश्य देखकर सभी गांव वाले उत्साह और खुशी से चिल्लाने लगे पर वह इस बात से अनजान थे, कि उन्होंने एक आत्मा को खुलेआम छोड़ दिया है। और उस रात वह सर गायब हो गया और गांव के लोगों को अगले सात दिनों तक पेनान्गलन (Penanggalan) की यातना सहनी पड़ी।

Comments