वह महिला जिसने जन्म एक बार लिया मगर उसे दफनाया दो बार गया Lady with the Ring Margorie Mccall Buried Alive

आपने कई कहानिया सुनी होगी की मौत के बाद जीवन है, इंसानो को अपने कर्मों के अनुसार मृत्यु के बाद स्वर्ग या नर्क में जाना पड़ता है। पर क्या आपने कभी ये सुना है, मौत के बाद इंसान वापस अपने घर लौट कर आ जाए? हम यहाँ किसी पुनर्जन्म की कहानी की बात नहीं कर रहे है। हमारा मतलब है, की जब किसी इंसान को दफनाया जाए उसके कुछ समय बाद वही इंसान वापस खुद ही चल कर अपने घर पहुंच जाए। सुनने में थोड़ा अजीब लगता है, ना?

सन १७०५ में मार्गोरि मैककॉल नाम की एक महिला की बुखार से मृत्यु हो गई। और इस डर से कि कहीं बुखार फेलना जाए उसे तुरंत ही दफना दिया गया। परंतु उस रात जब उसे दफनाया गया था, कुछ लुटेरों ने कीमती सामान जैसे- उसकी शादी की अंगूठी के लिए, उसकी कब्र को खोद दिया। और कब्र खोदने के बाद मार्गोरि अचानक उठ कर बैठ गई। लुटेरे उसे वहीं छोड़ कर अपनी जान बचाने के लिए, डर के मारे वहां से भाग खड़े हुए।

मार्गोरि मैककॉल की ठीक तरह से जांच नहीं हुई थी। और उसे समय से पहले ही दफना दिया गया था। इसके बाद मार्गोरि वहां से उठ कर अपने घर चली गई। उसका पति डॉक्टर जॉन घर पर उनके बच्चों के साथ था। जब उसने दरवाजे पर दस्तक सुनी, तो उसने बच्चों से कहा कि "अगर तुम्हारी माँ अभी जिंदा होती, तो कसम से यह दस्तक उसने ही दी होती"।

जब उसने दरवाजा खोला तो उसने देखा कि दरवाजे पर उसकी पत्नी उन्हीं कपड़ो में खड़ी थी, जिसमें उसे दफनाया गया था। उसकी उंगलियों से खून बह रहा था, पर वह जिंदा थी। मार्गोरि को वहां देख डर के कारण उसके पति की वहीं मौत हो गई और वह जमीन पर गिर गया। इसके बाद उसे उसी कब्र में दफनाया गया, जिस जगह को मार्गोरि खाली छोड़ा था।

Lady with the Ring Margorie Mccall Buried Alive



इसके बाद मार्गोरि ने फिर से शादी करी और उसके कई बच्चे भी हुए। और अंत में पूरी जिंदगी जीने के बाद जब उसकी मौत हुई, और उसे आयरलैंड के लूर्गान सिमिट्री में दफनाया गया। जहां उसकी कब्र में एक चौड़ा पत्थर आज भी रखा हुआ है। जिस पर लिखा हुआ है, “लीवड वन्स, बुरीद ट्वाइस।” (Lived Once , Buried Twice)

समय से पूर्व दफनाया जाना उस समय कोई दुर्लभ बात नहीं थी। पर इस मामले में वह (Margorie McCall) भाग्यशाली थी। क्यों कि उस समय कब्र के लुटेरे शवों को एनाटोमी स्कूल मैं बेचने के लिए या फिर जैसा कि इस इस परिस्थिति में हुआ था, किसी मूल्यवान चीज के लालच में कब्र को खोद दिया करते थे।

हालांकि यह कहानी अलग-अलग जगहों पर लोगों द्वारा अलग-अलग समय में घटित हुई सुनाई जाती है। इसलिए यह भी संभवत है, कि यह सिर्फ लोककथा भी हो सकती है। पर लुर्गान के लोग कहते हैं, कि यह एक सत्य घटना है। और मार्गरी की कब्र का वह पत्थर इस बात को साबित करता है। परंतु यह भी एक तथ्य है, कि वह पत्थर जिस समय की यह घटना बताई जाती है, उसके १५० साल बाद वहां रखा गया था।

आपको क्या लगता है, क्या यह वह के लोगो द्वारा सुनाई जाने वाली एक लोककथा है? या फिर ऐसा सच में हुआ होगा?

Comments